International yoga day: इस तरह हुई थी योग दिवस की शुरुआत

पूरी दुनिया 21 जून को हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International yoga day) के रूप में मनाती है।  अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का उद्देश्य दुनिया भर में योग के  लाभों के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाना है।कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते इस साल योग दिवस की थीम ‘घर पर मनाएं योगा दिवस’ है। बता दें, 21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन होता है और इसी दिन वर्ल्ड म्यूजिक डे (World Music Day) भी मनाया जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने 2014 के संबोधन में प्रस्ताव दिया कि योग को मनाने और अभ्यास करने के लिए एक दिन को विश्व स्तर पर मान्यता दी जानी चाहिए। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा था कि” योग भारत की प्राचीन परंपराओं का एक अमूल्य उपहार है, योग मन और शरीर, विचार और क्रिया की एकता और समग्रता का प्रतीक है। हमारे स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से योग हमारी भलाई के लिए मूल्यवान है। योग केवल व्यायाम के बारे में नहीं है, यह अपने आप को, दुनिया और प्रकृति के साथ एकता की भावना की खोज करने का एक तरीका है। “

जानिए क्यों चुना गया 21 जून का दिन
हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, मोदी ने योग को मनाने के लिए 21 जून का दिन चुना क्योंकि यह उत्तरी गोलार्ध में ग्रीष्मकालीन संक्रांति बनाता है और साल का सबसे लंबा दिन होता है। सबसे पहली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम मोदी और 84 देशों के गणमान्य लोगों ने नई दिल्ली के राजपथ पर 35 मिनट तक 21 आसन किए।

आज योग दिवस के दिन देशभर में लोग पूरे उत्साह के साथ योग करते नजर आ रहे हैं दुनिया की सबसे ऊंची सैन्य क्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर से भारतीय सैनिक

आयुष मंत्रालय (Aayush ministry) वीडियो प्रतियोगिता का ऐलान

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर आयुष मंत्रालय ने COVID-19 महामारी के बीच अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए, योगा एट होम, योगा विद फैमिली ’नामक एक अभियान शुरू किया है ताकि लोगों को इसका अभ्यास करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। लोगों को जागरूक करने के लिए #MyLifeMyYoga प्रतियोगिता का ऐलान किया है।  मंत्रालय ने ट्वीट में लिखा है
MyLifeMyYoga वीडियो ब्लॉगिंग प्रतियोगिता में भाग लेना सरल है।3 मिनट का योग वीडियो रिकॉर्ड करें।इसे अपलोड करें,और हमें टैग करें।

https://twitter.com/moayush/status/1274257312098603011?s=19

इस साल देश में कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण नेताओं अभिनेताओं सहित लोगों के द्वारा सोशल मीडिया पर तरह-तरह के योगासन जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं।

इसी क्रम में शुक्रवार को NITI Aayog के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने एक वीडियो शेयर किया जिसमें उन्हें सूर्य नमस्कार करते हुए देखा जा सकता है। उन्होंने ट्विटर पर वीडियो साझा करते हुए लिखा “प्रत्येक पोज़ माइंडफुलनेस में एक एक्सरसाइज है, जिसमें मुझे क्षण में उपस्थित होने की आवश्यकता होती है – प्रत्येक पोज़ एक दूसरे में, प्रत्येक पल दूसरे में प्रवाहित होता है।”

https://twitter.com/RajivKumar1/status/1273779085928304641?s=19

इसके अलावा केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने भी ताड़ासन नाम के योगासन का वीडियो ट्विटर पर साझा किया।
https://twitter.com/DrRPNishank/status/1272925653873147907?s=19
भारत ने पहले योग दिवस पर बनाया दिया था रिकॉर्ड

21 जून 2015 को पहला अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया गया था।इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में 35 हजार से अधिक लोगों और 84 देशों के प्रतिनिधियों ने दिल्‍ली के राजपथ पर योग के 21 आसन किए थे। इस समारोह ने दो गिनीज रिकॉर्ड्स हासिल किए।पहला रिकार्ड 35,985 लोगों के साथ सबसे बड़ी योग क्लास और दूसरा रिकॉर्ड चौरासी देशों के लोगों द्वारा इस आयोजन में एक साथ भाग लेने का बना।

Published by utkarsh sharma

Content writer ,political enthusiast

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create your website with WordPress.com
Get started
%d bloggers like this: